Circular: Guidelines Regarding DPC Deletion, Nomination & Amendment

परिपत्र : डीपीसी विलोपन, नामांकन एवं संशोधन के संबंध में जारी विभागीय दिशा-निर्देश (Circular: Departmental guidelines issued regarding DPC deletion, nomination and amendment) : डीपीसी (DPC) एक विभागीय प्रक्रिया है, जो लगातार चलती रहती है | जिसमें हर वर्ष योग्यता अभिवृद्धि (Merit enhancement), विलोपन, नामांकन, संशोधन (amendment) आदि की प्रक्रिया संपन्न होती है | इस हेतु समय-समय पर आवश्यक परिपत्र व दिशा-निर्देश (Guideline) विभाग (Department) के द्वारा जारी किए जाते रहे हैं | आज की इस पोस्ट में हम योग्यता के विलोपन, नामांकन तथा संशोधन के बारे में जानेंगे |

यदि आप योग्यता अभिवृद्धि (Merit enhancement) के बारे में जानना चाहते है तो आगे दिए गए लिंक पर क्लिक करे – Click Here

विलोपन :-

अध्यापक ग्रेड तृतीय (Grade III), वरिष्ठ अध्यापक ग्रेड द्वितीय (IInd Grade) एवं समकक्ष पदों पर किसी भी कार्मिक (Employee) की योग्यता विलोपन होने के कई कारण हो सकते हैं | जिनमें से कुछ इस प्रकार से हैं –

  • कार्मिक का मंडल से स्थानांतरण (Transfer) का हो जाना |
  • कार्मिक का स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS) ले लेना |
  • वर्तमान सेवा को त्याग देना |
  • कार्मिक (employee) के द्वारा किसी अन्य विभाग में नियुक्ति प्राप्त कर लेना |
  • कार्मिक की सेवा काल के दौरान मृत्यु (Death) का हो जाना |
  • अन्य कारण जिनसे वरिष्ठता (Seniority) विलोपित होती हो हो सकते हैं |

प्रायः ऐसा देखने में आता है की उपयुक्त कारणों के कारण कार्मिक की वरिष्ठता विलोपित (Seniority laps) हो जाती है | लेकिन संभागीय कार्यालयों के द्वारा समय पर विलोपन (Erasure) की कार्यवाही पूर्ण नहीं की जाती है | वर्ष वार डीपीसी (DPC) की बैठक आयोजित होने की समय वरिष्ठता विलोपित नहीं किए जाने के फलस्वरूप ऐसे कर्मचारियों का डीपीसी (DPC) में भी चयन कर लिया जाता है |

Read Also :

इस प्रकार से चयन से वरिष्ठतम कार्मिक (Senior Employee) जिनका चयन होना था, चयन से वंचित रह जाते हैं | बाद में उनके द्वारा परियोजनाएं प्रस्तुत करने पर ऐसे प्रकरण ज्ञात होने के फलस्वरूप इनका निस्तारण (Disposal) किया जाता है | रिव्यू डीपीसी (Review DPC) में इनका चयन कर पदोन्नति (Promotion) प्रदान की जाती है | इस हेतु विभाग (Department) को दोहरी कार्यवाही से गुजरना पड़ता है | जिसमें काफी समय भी लगता है तथा पारदर्शिता (Transparency) पर भी सवाल उठते है |

संभाग कार्यालय के अधीन कार्यरत वरिष्ठ अध्यापक (Senior teacher) एवं समकक्ष पदों पर कार्यरत यदि किसी कार्मिक (Employee) की किसी भी कारण से वरिष्ठता विलोपित (Seniority annulment) होती है | प्रकरण का समय पर परीक्षण कर संभागीय कार्यालय (Divisional office) की वरिष्ठता सूची में विलोपन (annulment) की कार्यवाही संपन्न की जानी आवश्यक है | इस हेतु निर्धारित प्रपत्र (Format) में निदेशालय को प्रस्ताव प्रेषित करना होता है |

व्याख्याता (स्कूल शिक्षा), प्रधानाध्यापक (HM) एवं प्रधानाचार्य एवं इनके समकक्ष पदों पर वरिष्ठता सूची में विलोपन हेतु प्रस्ताव निदेशालय (Directorate) को प्रेषित किए जाते हैं | जिनमें कार्मिक (Employee) की वरिष्ठता क्रमांक एवं जन्मतिथि (DOB) का अंकन भी आवश्यक रूप से किया जाना होता है | ऐसा होने से त्रुटि की संभावनाएं नगण्य हो जाएँगी |

नामांकन :-

नामांकन किसी भी वर्ष की स्थाई वरिष्ठता सूची प्रकाशित होने के बाद निदेशालय (Directorate) को संभाग कार्यालयों (Divisional office) से पूर्व वर्षों के अनेक नामांकन के प्रकरण प्राप्त होते हैं, जो उचित नहीं है | किसी कार्मिक (Employee) के नवीन नामांकन का कारण –

  • रिव्यू डीपीसी (Review DPC) से पूर्व वर्ष में चयन का होना |
  • अंतर मंडल स्थानांतरण के कारण नवीन मंडल में कार्य ग्रहण (Join) करना |

आदि हो सकते हैं | यदि रिव्यू डीपीसी (Review DPC) से चयन एवं अंतर मंडल स्थानांतरण नहीं होने के उपरांत भी नवीन नामांकन हेतु निदेशालय (Directorate) को प्रस्ताव प्राप्त होते हैं, तो यह स्पष्ट है कि संभाग कार्यालय (Divisional office) द्वारा संभागीय वरिष्ठता सूची जारी करते समय उदासीनता (apathy) बरती गई है | जिसके कारण किसी कार्मिक (Employee) का पूर्व वर्षों की वरिष्ठता सूची में नामांकन दर्ज नहीं हो पाया है |

इस संबंध में संभाग कार्यालयों (Divisional office) को निर्देश प्रदान किए जाते हैं कि ऐसे प्रकरणों (treatise) को चिन्हित कर उनके नामांकन की कार्यवाही दिनांक 20.12.2019 तक आवश्यक रूप से संपन्न कर निदेशालय, बीकानेर को प्रस्ताव प्रेषित करें |इस तिथि के पश्चात वर्ष 2014 से पूर्व की वरिष्ठता सूची में नामांकन का कोई भी प्रकरण स्थानीय कार्यालय (निदेशालय, बीकानेर) के द्वारा स्वीकार नहीं किया जाएगा |

संभागीय कार्यालय (Divisional office) एक संभाग से दूसरे संभाग में स्थानांतरण (Transfer) के प्रकरणों में नवीन नामांकन से पूर्व ही यह सुनिश्चित करेंगे कि कार्मिक की पूर्व संभाग की वरिष्ठता (Seniority) की कार्यवाही पूर्ण हो चुकी है | जो संभाग वरिष्ठता विलोपन की कार्यवाही करता है, उसका भी यह दायित्व होगा कि वह संबंधित संभाग को वरिष्ठता विलोपन (Seniority annulment) के आदेश सहित प्रपत्र – 5 (Format – 5) तत्काल उपलब्ध कराएगा | ताकि नए संभाग में संबंधित कार्य में नामांकन की कार्यवाही प्रपत्र – 6 (Format – 6) के अनुसार प्रपत्र – 5 प्राप्त होने के 1 सप्ताह के भीतर ही संपन्न की जा सके |

इस प्रकार के प्रकरणों में एक संभाग कार्यालय (Divisional office) दूसरे संभाग कार्यालय को उपयुक्त कार्यवाही किए जाने हेतु वांछित आदेशों (Required Order) की प्रतियां (Copy) आवश्यक रूप से प्रेषित कर नामांकन विलोपन की कार्यवाही को तत्परता के साथ पूर्ण करें | सभी संभाग कार्यालय (Divisional office) ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करें |

जन्मतिथि में संशोधन की प्रक्रिया :-

वरिष्ठ अध्यापक (Senior Teacher) एवं इसके समकक्ष पदों की वरिष्ठता सूची का निर्माण करते समय मंडल अधिकारी सीधी भर्ती के प्रकरणों में आवेदन पत्र, प्रथम नियुक्ति आदेश (First appointment order) आदि में अंकित तिथि (Date) का ही अंकन वरिष्ठता सूची में कार्मिक के आगे किया जाता है | डीपीसी (DPC) अर्थात पदोन्नति के प्रकरणों में तृतीय वेतन श्रंखला (3rd grade) में जो जन्म तिथि अंकित है, वहीं वरिष्ठ अध्यापक (Senior teacher) की मंडल स्तरीय वरिष्ठता सूची में भी अंकित की जाएगी |

किसी अपरिहार्य कारण के द्वारा त्रुटि से अर्थात मानवीय भूल से जन्म तिथि में हुई गलती के संशोधन (amendment) हेतु मंडल अधिकारी वरिष्ठ अध्यापक एवं समकक्ष पदों की जन्मतिथि में संशोधन (amendment) मंडल स्तरीय वरिष्ठता सूची में संशोधन (amendment) करने से पूर्व कार्मिक (employee) का प्रथम नियुक्ति आदेश एवं सेकेंडरी (10th) का मूल सर्टिफिकेट तथा प्रथम नियुक्ति के समय प्रस्तुत किये गए प्रमाण-पत्र (certificate) का अध्ययन आवश्यक रूप से करेंगे |

मंडल स्तरीय वरिष्ठता सूची में जांच संपन्न करने के बाद ही संशोधन (amendment) कर निदेशालय (Directorate) को उपयुक्त प्रस्ताव भेजेंगे | उसमें यदि भूलवश कोई त्रुटि रह गई हो तो इसका उल्लेख करेंगे | जिसके अनुसार किस स्तर पर गलती (Mistake) हुई है | कौन इसके लिए जिम्मेदार (Responsible) है ? इसका विवरण भी देंगे | उसमें स्पष्ट रूप से उल्लेख करेंगे कि कार्मिक (Employee) के मूल अभिलेख (Original Documents) तथा प्रथम नियुक्ति आदेश को देखकर ही जन्म तिथि (DOB) संशोधन का प्रस्ताव प्रेषित (Send) किया जा रहा है |

स्थाई वरिष्ठता सूची में अन्य संशोधन (amendment) की प्रक्रिया :-

स्थाई वरिष्ठता सूची में इस सूची में नाम / उपनाम (Name And Sub name) जिला, मंडल स्तरीय वरिष्ठता सूची में पूर्व अधिकारी मूल अभिलेखों (Original Documents) से उनका मिलान कर संपूर्ण रूप से जांच कर संशोधन (amendment) की प्रक्रिया पूर्ण करें | निदेशालय (Directorate) को प्रेषित पत्र में स्पष्ट रूप से यह अंकित करें की संशोधन करने का क्या रहा है | अब तक संशोधन (amendment) करने हेतु विलंब किस स्तर पर किया गया | इसके लिए कौन जिम्मेदार (Responsible) है ? दोषी के विरुद्ध या जिम्मेदार व्यक्ति के विरुद्ध क्या कार्यवाही की गई | पूर्ण विवरण सहित संशोधन कर राज्य स्तरीय वरिष्ठता सूची में संशोधन (amendment) करने हेतु प्रस्ताव प्रेषित करें |
न्यायालय (Court) के निर्णय के अधीन अंतर जिला या मंडल स्थानांतरण (Transfer) के प्रकरण में कार्यवाही निर्णय के अधीन रूप से ही जारी रखी जाएगी | शेष प्रकरणों में अस्थाई वरिष्ठता सूची (Seniority list) में योग्यता के अभिवृद्धि, नामांकन, विलोपन, जन्मतिथि में संशोधन, नाम व उपनाम आदि में संशोधन, जाति (Cast), वर्ग, वरिष्ठता क्रमांक (Merit Number) में संशोधन सक्षम अधिकारी उक्त निर्देशों की पालना सुनिश्चित करते हुए मंडल स्तरीय वरिष्ठता सूची में अंकित कर प्रस्ताव 20.12.2019 तक निदेशालय (Directorate) को प्रेषित कर दें | उसके बाद भी कोई प्रकरण यदि किसी कारणवश शेष रह जाता है, तो उसके लिए संबंधित कार्मिक (Employee)अथवा अधिकारी (Officer) स्वयं दोषी होगा / जिम्मेदार (Responsible) होगा | समस्त संयुक्त निदेशक School Education, जिला शिक्षा अधिकारी मुख्यालय उक्त निर्देशों (Instructions) को अपने अधीनस्थ कार्यालयों (offices) एवं संस्थाओं को जारी कर पालना सुनिश्चित (cocksure) करवाएंगे | उक्त क्रम में विभाग के सभी कार्मिकों (Employee) को भी निर्देश प्रदान किए जाते हैं कि वह अपने से संबंधित वर्ष की वरिष्ठता सूची में अपने नामांकन की सही ढंग से पुष्टि करें | किसी प्रकार का संशोधन (amendment), विलोपन, योग्यता अभिवृद्धि की का प्रकरण उत्पन्न हो तो संस्था प्रधान (Head of Institution) के माध्यम से संबंधित कार्यालय (office) को अपना आवेदन (Application) प्रस्तुत करें | ताकि निर्धारित तिथि तक संभाग कार्यालय (Divisional office) द्वारा प्रस्ताव निदेशालय (Directorate) को प्रेषित करवाए जाने का कार्य पूर्ण किया जा सके | जिससे रिव्यू डीपीसी (Review DPC) के प्रकरणों में भी कमी लाई जा सके |

Spread the love

Leave a Comment

error: Content is protected !!